30 May 2023

HTML संरचना: एक पूर्ण व्यापक परिचय

HTML संरचना: एक पूर्ण व्यापक परिचय

HTML संरचना: एक पूर्ण व्यापक परिचय





जीवन बीमा बाजार में आपका हार्दिक स्वागत है! अगर आप वेब डेवलपमेंट सीखना चाहते हैं, तो आपको सबसे पहले वेब डाक्यूमेंट्स की संरचना को समझना सबसे अधिक महत्वपूर्ण होगा। जिस प्रकार से किसी घर के निर्माण के लिए नींव सबसे अधिक महत्वपूर्ण होती है, ठीक उसी प्रकार HTML (हाइपरटेक्स्ट मार्कअप लैंग्वेज) की संरचना को जानना प्रत्येक वेब पेज की रीढ़ की हड्डी होती है।


इस लेख में हम किसी HTML डॉक्यूमेंट संरचना का निर्माण करने वाले मुलभुत एलिमेंट्स के बारे में विस्तार से जानेंगे। इन मुख्य अवधारणाओं को समझकर, आप इस बात की ठोस समझ प्राप्त करेंगे कि वेब पेज कैसे बनाए जाते हैं? यह जानकारी आपको अच्छी तरह से संरचित और सुलभ सामग्री बनाने में सक्षम करेगी।






DOCTYPE घोषणा:

HTML डॉक्यूमेंट का निर्माण करते समय सबसे पहले हमें ब्राउज़र को बताना होता है कि हम डॉक्यूमेंट में HTML के किस संस्करण का उपयोग करने जा रहे है। यह वेब ब्राउज़र के लिए सबसे अधिक महत्वपूर्ण होता है। वेब ब्राउज़र को बताने के लिए कि HTML डॉक्यूमेंट में HTML के किस संस्करण का उपयोग हो रहा है, DOCTYPE घोषणा कहा जाता है।


DOCTYPE घोषणा करने का लाभ यह होता है कि जब ब्राउज़र को आपके HTML के संस्करण की जानकारी हो जाती है, तब ब्राउज़र आपके डाक्यूमेंट्स को सही प्रकार से रेंडर कर लेता है। उपयुक्त DOCTYPE घोषणा को शामिल करके, आप मानकीकृत वेब पेज के लिए एक मज़बूत नींव तैयार करते हैं।


HTML डाक्यूमेंट्स का Head एवं Body सेक्शन:

किसी भी HTML डॉक्यूमेंट को श्रेणीबद्ध व्यवस्था के तहत तैयार किया जाता है। HTML डॉक्यूमेंट में DOCTYPE घोषणा कर देने के बाद, सबसे पहले <html> एलिमेंट को शामिल किया जाता है। यह पुरे वेब पेज को इनकैप्सूलेट करता है। <html> के अंदर दो प्रमुख सेक्शन होते है: <head> और <body> एलिमेंट्स।


HTML के मेटाडाटा को <head> सेक्शन में शामिल किया जाता है। <head> सेक्शन में ही वेब पेज का टाइटल, वर्ण एन्कोडिंग, लिंक्ड स्टाइलशीट एवं अन्य दूसरी जानकारी भी शामिल की जाती है।


दूसरी ओर <body> सेक्शन में, वेब पेज पर दिखाई देने वाली सामग्री को शामिल किया जाता है। जैसे: हैडिंग, पैराग्राफ, इमेज और इंटरैक्टिव एलिमेंट्स शामिल होते है।


HTML डाक्यूमेंट्स की भाषा बताना:

HTML दस्तावेज़ों की भाषा के बारे में जानकारी का वर्णन करना भी एक महत्वपूर्ण कार्य होता है। जब आप अपने HTML दस्तावेज़ की भाषा निर्दिष्ट करते हैं, तो ब्राउज़र आपके वेब पेज को योग्य दर्शकों तक पहुँचाता है अर्थात HTML डॉक्यूमेंट में भाषा के विषय में जानकारी देना SEO (सर्च इंजन अनुकूलन) के दृष्टिकोण से बहुत अधिक महत्वपूर्ण हो जाता है।


डॉक्यूमेंट के <html> टैग में, lang एट्रिब्यूट जोड़कर डॉक्यूमेंट की भाषा को बताया जा सकता है। lang एट्रिब्यूट में डॉक्यूमेंट की भाषा कोड को जोड़कर यह कार्य किया जा सकता है। अलग-अलग भाषाओं के लिए अलग-अलग कोड का उपयोग किया जाता है।


उदाहरण के लिए यदि आपका HTML डॉक्यूमेंट हिंदी भाषा में है तो lang एट्रिब्यूट को निम्न प्रकार से लिखा जायेगा।
<html lang="hi">


इसी प्रकार यदि आपका HTML डॉक्यूमेंट अंग्रेजी भाषा में है तो lang एट्रिब्यूट को निम्न प्रकार से लिखा जायेगा।
<html lang="en">


उपरोक्त में हिंदी भाषा को hi से और अंग्रेजी भाषा को en से प्रदर्शित किया गया है।






HTML डॉक्यूमेंट में एलिमेंट्स का महत्व:

HTML डॉक्यूमेंट की संरचना में एलिमेंट्स का क्रमबद्ध उपयोग बहुत अधिक महत्वपूर्ण होता है। किसी भी वेब पेज की सामग्री ब्राउज़र में विशेष क्रम में दिखाई देती है। उदाहरण के लिए यदि आप एक आर्टिकल लिखना चाहते हैं तो इसके लिए आपको निम्नलिखित चीज़ों की जरुरत हो सकती है।


  • आपको अपने आर्टिकल का टाइटल चुनना होगा
  • आर्टिकल के अनुकूल इमेज चुनना होगा
  • आर्टिकल के विषय में संक्षिप्त जानकारी (इंट्रो) देनी होगी।
  • आर्टिकल में अलग-अलग हैडिंग और सब-हैडिंग की जरूरत होगी।
  • प्रत्येक हैडिंग और सब-हैडिंग के विषय में आवश्यक जानकारी शामिल करना होगा।

किसी भी सामान्य आर्टिकल के लिए उपरोक्त सामग्री की जरूरत होती है। आर्टिकल में इसे एक विशेष क्रम में रखना जरुरी होता है। ऐसा करने से दर्शकों को समझने में सुविधा होती है एवं ब्राउज़र भी वेब पेज को सही तरीके से समझ सकता है।


यही कारण है कि HTML डॉक्यूमेंट में उपरोक्त एलिमेंट को क्रमबद्ध तरीके में प्रस्तुत करना अनिवार्य होता है। जैसे किसी डॉक्यूमेंट में हेडिंग के लिए क्रमशः h1 से h6 टैग्स का उपयोग किया जाता है। जिसमे h1 का उपयोग सबसे मुख्य हैडिंग के लिए और h6 का उपयोग सबसे निम्नतम हैडिंग के लिए किया जाता है।


ठीक इसी प्रकार पैराग्राफ के लिए <p> टैग का उपयोग किया जाता है। इस टैग का उपयोग करने से ब्राउज़र यह समझ पाता है कि डॉक्यूमेंट में पैराग्राफ का उपयोग किया गया है।


निष्कर्ष:

अगर आप वेब डेवलपमेंट की दुनिया में जगह बनाना चाहते है या वेब सामग्री निर्माण के लिए कार्य करना चाहते है, तो आपको HTML डॉक्यूमेंट की संरचना का बेहतर ज्ञान होना बहुत अधिक महत्वपूर्ण होगा। आपको समझना होगा कि HTML के प्रत्येक एलिमेंट किस उदेश्य की पूर्ति करते है और इनका क्रमबद्ध तरीके से कैसे उपयोग किया जाता है। इन चीज़ों को समझने के बाद ही आप well-structured, accessible और SEO अनुकूलित वेब पेज का निर्माण कर सकते है।


इस लेख के आगामी अनुभागों में, हम HTML दस्तावेज़ संरचना की पेचीदगियों को गहराई से जानेंगे और इसकी शक्ति और लचीलेपन को उजागर करेंगे। तो इसके लिए नीचे दिए हुए Next बटन पर क्लिक करें।








No comments:

Post a Comment

Please do not enter any spam link in the comment box.